हरिद्वार ऋषिकेश यात्रा की जानकारी हिंदी में । best haridwar places to visit

Spread the love

हरिद्वार ऋषिकेश यात्रा कैसे करें | Haridwar to Rishikesh | Haridwar temple | Haridwar river rafting|best haridwar places to visit

• दोस्तों हम आपको इस ब्लॉग में हरिद्वार ऋषिकेश की यात्रा कैसे करें और इस यात्रा करने का आसान तरीका कहां से शुरुआत करें हरिद्वार कैसे पहुंचे हरिद्वार ऋषिकेश में घूमने की जगह है हरिद्वार ऋषिकेश में खर्चा कितना होगा हम आपको इस ब्लॉग में बताएंगेbest haridwarplaces to visit.

हरिद्वारहरिद्वार यह उत्तराखंड में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह हिंदुओं का प्रमुख तीर्थ स्थल है। हरिद्वार यह एक नगरपालिका है। हरिद्वार योगा बहुत ही प्राचीन नगर है। हरिद्वार रही है भारत के हिंदुओं के साथ पवित्र स्थानों में से एक है। हरिद्वार की समुद्र तल से ऊंचाई 314 मीटर है। गंगा नदी प्रथम व मैदानी प्रवेश हरिद्वार में ही करती है। इसीलिए हरिद्वार गंगाद्वार के नाम से भी जाना जाता है।
          हरिद्वार का मतलब होता है कि हरि ईश्वर का द्वार ऐसा होता है। भारत में उज्जैन हरिद्वार नाशिक और प्रयाग इन चार स्थानों में हर बार 12 वर्ष के एक बाद महाकुंभ का आयोजन होता है। एक स्थान के महाकुंभ से 3 वर्ष के बाद दूसरे स्थान पर महाकुंभ का आयोजन होता रहता है। यहां पर पूरी दुनिया से करोड़ों लोग एकत्रित होते हैं गंगा नदी के तट पर शास्त्र विधि से स्नान करते हैं। best haridwarplaces to visit.
ऋषिकेश ऋषिकेश उत्तराखंड राज्य के देहरादून जिले का एक नगर है।गढ़वाल हिमालय का प्रवेश द्वार है। ऋषिकेश यह योग की विश्व राजधानी है। ऋषिकेश हरिद्वार से 25 किलोमीटर देहरादून से 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
• Haridwar – Haridwar Uttarakhand mein sthit ek dharmik Sthal hai yah Hindu Ho ka Pramukh tirth Sthal haiHaridwar ek nagarpalika hai Haridwar bahut hi prachin Nagar hai Haridwar Bharat ke hinduon ke sath Pavitra sthan mein se ek sthan hai Haridwar ki samudra tal se unchai 314 metre hai Ganga nadi Pratham aur Madani Pravesh Haridwar mein hi karti hai isliye Haridwar Ganga dwar ke naam se bhi Jana jata hai.                         Haridwar ka matlab hota hai ki Hari Ishwar ka dwar aisa hota hai Bharat mein Ujjain Haridwar Nashik aur Prayag inn 4 sthanon mein har bar 12 varsh ke bad mahakumbh ka aayojan hota hai ek sthan ke mahakumbh se 3 varsh ke bad dusre sthan per mahakumbh ka aayojan hota rahata hai yahan per Puri duniya se karodo log ektrit hote hain Ganga Nadi ke tat per Shastra vidhi se snan karte Hain.best haridwarplaces to visit.

• Haridwar Rishikesh – Rishikesh Uttarakhand rajya ke Dehradun jile ka ek Nagar hai Garhwal Himalaya ka Pravesh dwar hai Rishikesh yog ki Vishva rajdhani hai Rishikesh Haridwar se 25 kilometre dur Dehradun se 40 kilometre doori par sthit hai.


• हरिद्वार कैसे पहुंचे | how to reach Haridwar Rishikesh

• सडक मार्ग – ऋषिकेश हरिद्वार यह प्रमुख हिंदू धार्मिक स्थल होने के कारण सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है आप यहां दिल्ली से आसानी से सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं।
     यहां पर दिल्ली से सीधे आपको निजी बस और गवर्नमेंट बसें भी उपलब्ध है।
• रेल्वे मार्ग – यहां पर ऋषिकेश नाम का रेलवे स्टेशन है यहां पर भारत के हर बड़े शहर से रेल आती है यहां पर आखिरी स्टेशन है जो सिटी से 5 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। ऋषिकेश से रेलवे आगे नहीं जाती है से शुरुआत होती है आप यहां भारत के किसी भी बड़े शहर से यहां रेल से पहुंच सकते हैं।best haridwarplaces to visit.
• हवाई मार्ग – यहां से 18 किलोमीटर की दूरी पर देहरादून जौली ग्रांट एयरपोर्ट है। आप भारत के किसी भी बड़े शहर से यहां पहुंच सकते हैं । यहांं से दिल्ली के लिए रोजाना फ्लाइट उपलब्ध है।

• Haridwar kaise pahunche how to reach Haridwar Rishikesh –

• Sadak Marg – Rishikesh Haridwar yah Pramukh Hindu dharmik Sthal hone ke Karan Sadak Marg se acchi tarah se juda hua hai yahan aap Delhi se aasani se Sadak Marg dwara poochh sakte hain yahan per Delhi se sidhe rojana niji bus aur government bus sidhe uplabdh hai.

• rail marg – yahan per sikesh naam ka railway station hai yahan per Bharat ke har bade Shahar se rail aati hai yahan per aakhiri station hai jo City se 5 kilometre ki duri per sthit hai Rishikesh railway aage nahin chahti yahan se railway shuruaat Hoti hai aap yahan Bharat ke kisi bhi bade railway sthanak se yahan pahunch sakte hain.best haridwarplaces to visit.

• hawai Marg – yahan se 18 kilometre ki duri per Dehradun Jolly grant Airport seat hai ab Bharat ki kisi bhi bade Shahar se yahan aasani se pahunch sakte hain yahan se Delhi ke liye rojana flight uplabdh hai.best haridwarplaces to visit.


• हरिद्वार ऋषिकेश के प्रमुख तीर्थ स्थल | best places visit Haridwar Rishikesh –

• हर की पैड़ी – पैड़ी का मतलब होता है सिढी ऐसा कहा जाताा है कि विक्रमादित्य के भाई तपस्या करके अमर पद पाया था। इसी कारण बोलचाल केेे चलते यहां का नाम हर की पौड़ी पड़ गया।
            यह हरिद्वार का एक मुख्य स्थान है। हरिद्वाार में आने केेे बाद श्रद्धालु यहीं पर स्नान करते हैं। एक मान्यता के अनुसार यहां के धरती पर भगवान विष्णु आए थे इस धरती पर भगवान विष्णु के पैर पड़नेे की वजह से हर की पौड़ी नाम पड़ गया हरिद्वार यह हिंदुओं का हृदय स्थल माना जाता है।

• har ki Paidi – paddy ka matlab hota hai sidhi Aisa kaha jata hai ki Vikramaditya ke bhai Tapasya karke Amar tapasya tha ISI Karan bol chaal ke chalte yahan ka naam har ki pauri pad Gaya hai

                        yah Haridwar ka ek mukhya sthan hai Haridwar mein aane ke bad shradhalu yahan per snan karte hain ek Manyata ke anusar yahan ke Dharti par Bhagwan Vishnu aaye the ISI Dharti par Bhagwan Vishnu ke pair padane ki vajah se har ki Pauri ka naam pad Gaya hai Haridwar yah hinduon ka hrudaysthal Mana jata hai.best haridwarplaces to visit.

• चंण्डी देवी मंदिर – माता चंण्डी देवी का यह सुप्रसिद्ध मंदिर गंगा नदी के पूर्वी किनारे पर स्थित है यह मंदिर शिवालिक श्रेणी के नील पर्वत के शिखर पर स्थित है।
            यह मंदिर जम्मू कश्मीर के राजा सुचेत सिंह द्वारा 1920 में बनाया गया थामान्यता है कि यहां के मुख्य प्रतिमा की स्थापना आठवीं सदी में आदि शंकराचार्य ने की थी। यह मंदिर चंडीघाट से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है इस मंदिर की चढ़ाई काफी कठिन है।यहां पर जाने और आने के रास्ते में आपको कहीं मंदिर के दर्शन भी होते हैं।थोड़े ही दिनों में यहां पर आपको रोपवे ट्रॉली की भी सुविधा मिलेगी।best haridwarplaces to visit.
• Chanda Devi Mandir – Mata Chanda Devi ka mandir yo suprasiddh Mandir Ganga nadi ke kinare per sthit hai yah Mandir Shivalik shreni ke Neel parvat ke shikar per sthit hai.               Yah Mandir Jammu Kashmir ke Raja suchit Singh dwara 1920 mein banaya Gaya tha yahan ki mukhya Pratima ki sthapna aathvin sati Mai adi Shankaracharya ne ki thi yah Mandir Chandigarh se 3 kilometre ki duri per sthit hai is mandir ki chadhai kafi kathin hai yahan per jaane aur aane ke raste mein aapko Kai Mandir ke darshan bhi hote hain thode hi din mein yahan per aapko ropeway trolley ki suvidha milegi.best haridwarplaces to visit.

• मनसा देवी मंदिर – यह मंदिर शिवालिक श्रेणी के एक पर्वत शिखर पर स्थित है मनसा देवी मंदिर का शाब्दिक अर्थ है कि वह देवी जो मन में जो भी इच्छा होती है वह पूर्ण करती है इसीलिए इसका नाम मनसा देवी मंदिर पड़ा है।
इस मंदिर में 2 प्रतिमाएं पहली थी मुख्य और 5 भुजाओं वाली जबकि दूसरी 8 भुजाओं वाली है। मनसा देवी के मंदिर तक जाने के लिए आपको रोपवे की सुविधा है। लेकिन इस प्रणाली में वेटिंग बहुत होती है।मनसा देवी मंदिर तक जाने के लिए पैदल मार्ग भी शुभम है यहां की चढ़ाई सामान्य है सड़क से 187 सीढ़ियों के बाद आप मंदिर तक पहुंच सकते हैं।
इस रास्ते से जाते वक्त आपको नीलगंगा का दर्शन होता है। और साथ ही साथ यहां से हरिद्वार का दर्शन भी होता है।यहां से पैदल यात्रा करके आप गंगा का स्नान करके आपकी थकावट भी दूर कर सकते हैं और प्रसन्न हो सकते हैं।लेकिन धार्मिकता के अनुसार लोग स्नान करके ही यहां की यात्रा करते हैं।best haridwarplaces to visit.
• Mansa Devi Mandir – yah Mandir Shivalik shreni ke ek parvat Shikhar par sthit hai Mansa Devi Mandir ka shaadi karta hai ki vah devi Jo man mein bhi ichcha Hoti hai vah purn Karti hai isiliye iska naam Mansa Devi Mandir pada hai is Mandir mein do Pratima hai mukhya 5 bhugaon wali aur dusri 8 Puja wali hai Mansa Devi ke mandir Tak jane ke liye aapko rupaye ki suvidha hai lekin is pranali mein waiting bahut Hoti hai Mansa Devi Mandir Tak jane ke liye paidal Marg bhi hai yahan ki chadhai samanya hai Sadak se 180 sidhiyon ke bad aap Mandir Tak pahunch sakte hain.best haridwarplaces to visit.                         is raste mein jaate waqt aapko neelganga ka darshan hota hai aur sath hi sath yahan se Haridwar ka bhi Darshan hota hai yahan se paidal Yatra karke aap Ganga snan kar ki aapki takat bhi dur kar sakte hain aur prasann ho sakte hain lekin dharmikta ke anusar log snan karke hi yahan ki yatra ki shuruaat karte Hain.

• ऋषिकेश के पर्यटन स्थल | best places to visit in Rishikesh –

• लक्ष्मण झूला – यह झूला गंगा नदी को एक किनारे से दूसरे किनारे को जोड़ने के लिए बनाया गया था इस नगर की यह एक विशिष्ट पहचान है इसे 1996 में बनाया था ऐसा कहा जाता है कि गंगा नदी को पार करने के लिए लक्ष्मण ने स्थान पर जुट का झूला बनाया था।
             इस झूले के मध्य तक पहुंचने के बाद आपको ऐसा एहसास होता है कि यह झूला हिल रहा है यह 450 फीट लंबा लक्ष्मण झूला है।झूले पर खड़ी होकर आप आसपास के नजारे का आनंद भी ले सकते हैं इस मंजुला के समान रामशिला भी नजदीक पर ही स्थित है।best haridwarplaces to visit.

• Lakshman jhula – yah jhula Ganga nadi ke kinare se dusre kinare ko jodne ke liye banaya Gaya tha yah is Nagar ki yah ek vishisht pahchan hai ise 1996 mein banaya Gaya tha Aisa kaha jata hai ki Ganga nadi ko paar karne ke liye Lakshman de sthan per jute ka jhula banaya tha.

                 Is jhule ke Madhya Tak pahunchne ke bad aapko Aisa aisa hota hai ki juda hil raha hai ya 450 feet Lamba Lakshman jhula hai jhule per khadi hokar aap aaspaas ke najar ka Anand le sakte hain.best haridwarplaces to visit.

• त्रिवेणी घाट यह ऋषिकेश का मुख्य घाट है यहां पर श्रद्धालु आकर गंगा नदी में डुबकी लगाते हैं।ऐसा कहा जाता है कि इस स्थान पर गंगा यमुना सरस्वती यह दिन हिंदुओं की प्रमुख नदियों का यहां पर संगम होता है। और इसी स्थान से गंगा नदी दाई ओर मुड़ जाती है।
• Triveni Ghat – yah Rishikesh ka mukhya ghate yahan per shradhalu are karne Ganga nadi mein dubki lagate Hain Aisa kaha jata hai ki sthan par Ganga Yamuna Saraswati hinduon ki Pramukh nadiyon ka yahan per Sangam hota hai aur ISI sthan se Ganga nadi dahine aur mote jaati hai.
• यदि आपको हमारा लिखा हुआ ब्लॉग पसंद आता है तो प्लीज से लाइक और दोस्तों को शेयर जरूर कीजिए और हमारे बाकी के ब्लॉग पढ़िए।

1 thought on “हरिद्वार ऋषिकेश यात्रा की जानकारी हिंदी में । best haridwar places to visit”

Leave a Comment

x