दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्टैचू ऑफ यूनिटी के बारे में जानकारी हिंदी में statue of unity

Spread the love

स्टॅच्यू ऑफ युनिटी इन हिंदी world highest statue of unity in Hindi

Statue of unity

Statue of unity

स्टैचू ऑफ यूनिटी का टिकट खर्चा – statue of unity ticket price –

स्टैचू ऑफ यूनिटी की प्रतिमा को देखने के लिए आपको पैसा भी खर्च करना पड़ता है टिकट में कुल 2 कैटेगरी होते हैं इसमें एक गैलरी देखने के लिए होता है और एक बिना गैलरी वाला टिकट होता है अगर आप गैलरी और म्यूजियम और वैली फ्लावर जाना चाहते हैं तो आपको पूरा नजारा देखना है तो 3 साल के बच्चे से लेकर वयस्क व्यक्ति तक ₹350 की टिकट लेनी होती है और ₹30 बस के देने होते हैं यानी एक आदमी के ₹380 तक का खर्चा होता है।
mumbai visiting places in hindi click here

अंबोली हिल स्टेशन Amboli places to visit in Hindi

• Statue of unity online ticket –

ऑनलाइन टिकट के लिए नेट बैंकिंग या डेबिट कार्ड से आप भुगतान कर सकते हैं जिसमें कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं लगेगा वही आप क्रेडिट कार्ड से बुकिंग करते हैं तो यहां पर कुल राशि पर 1 फ़ीसदी जीएसटी लगता है।

statue of unity in Hindi
statue of unity in Hindi
• स्टॅच्यू ऑफ युनिटी statue of unity –

स्टॅच्यू ऑफ युनिटी भारत के प्रथम उप प्रधानमंत्री और प्रथम गृहमंत्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित स्मारक बनाया गया है । स्टैचू ऑफ यूनिटी गुजरात राज्य में स्थित है गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार भाई वल्लभ पटेल के जन्मदिन के मौके पर एक विशालकाय मूर्ति निर्माण करने का शिलान्यास किया था इस स्मारक को सरदार सरोवर बांध से 3 पॉइंट 2 किलोमीटर की दूरी पर साधु बेट पर बनाया गया है जो कि नर्मदा नदी के एक बेड पर स्थित है यह स्थान भारत के गुजरात राज्य के भरूच के निकट नर्मदा जिले में स्थित है आप यहां पर अहमदबाद से आसानी से पहुंच सकते हैं।

• दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्टैचू ऑफ यूनिटी tallest statue in the world in Hindi –

स्टैचू ऑफ यूनिटी दुनिया की सबसे लंबी मूर्ति में से एक है जिसकी लंबाई 182 मीटर है मतलब 600 फीट के करीब इसके बाद विश्व की दूसरी सबसे ऊंची मूर्ति है चीन में स्प्रिंग टेंपल बुद्धा जिसकी कुल ऊंचाई 208 मीटर है अभी फिलहाल दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्टैचू ऑफ यूनिटी सरदार भाई वल्लभ पटेल की है।

• स्टैचू ऑफ यूनिटी बजट । statue of unity revenue –

स्टैचू ऑफ यूनिटी को शुरुआत से परियोजना में कुल लागत भारत सरकार द्वारा 3000 करोड़ रखी गई थी इसके बाद में लार्सन एंड टूब्रो ने अक्टूबर 2014 में सबसे कम बोली लगाकर इस पर काम करना शुरू कर दिया था लार्सन एंड टूब्रो ने अक्टूबर 2014 में 2989 करोड़ में बोली लगाई थी इसमें आकृति निर्माण रखरखाव यह सब कार्य शामिल था निर्माण का काम 31 अक्टूबर 2013 से शुरू हुआ था और इसका उद्घाटन भी 31 अक्टूबर 2018 को सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन के मौके पर किया गया था।

• स्टैचू ऑफ यूनिटी परियोजना इन हिंदी –

भारत के उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को समर्पित यह स्मारक नर्मदा बांध के विषय में बनाया गया है से 3 पॉइंट 2 किलोमीटर दूर साधु बेट नामक एक द्वीप पर बनाया गया है इस मूर्ति की कुल ऊंचाई 240 मीटर है जिसमें 58 मीटर का आधार तथा 182 मीटर की मूर्ति है यह कांक्रीट तथा का सेल ए पेन से बना हुआ है।

• स्टैचू ऑफ यूनिटी की विशेषताएं – statue of unity information –

• मूर्ति कास्य लेपन किया गया है।

• स्मारक तक पहुंचने के लिए लिफ्ट बनी हुई है।

• मूर्ति त्रिस्तरीय आधार पर स्थित है जिसमें प्रदर्शन फ्लोर छज्जा और छत शामिल है छत पर स्मारक का उपवन है विशाल संग्रहालय है और एक प्रदर्शन हाल है जिसमें सरदार वल्लभभाई पटेल की जीवन गाथा ओंको दर्शाया गया है।

• नदी से 500 फीट ऊंचा आब्जर्वर डेक का निर्माण किया गया है जिससे एक ही वक्त पर 200 लोग निरीक्षण कर सकते हैं।

• नाव के द्वारा केवल 5 मिनट में मूर्ति तक पहुंचा जा सकता है।

• यहां पर एक आधुनिक प्लाजा का निर्माण किया गया है जिसके द्वारा नर्मदा नदी और मूर्ति को आसानी से देखा जा सकता है यहां पर खाने-पीने की स्टाल रेस्टोरेंट रिटेल और अन्य शॉपिंग की सुविधाएं मौजूद है जिससे पर्यटकों का अच्छा अनुभव मिलता है।

• हर सोमवार यहां पर रखरखाव के लिए स्टैचू ऑफ यूनिटी को बंद रखा जाता है।

• वो 10 बातें जो आपको statue of unity के बारे में – top 10 information about statue of unity –

1) सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्टैचू ऑफ यूनिटी के नाम से बनाई गई है भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर 2018 को इसका उद्घाटन किया था इसी दिन सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती थी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा सरदार वल्लभभाई पटेल स्टैचू ऑफ यूनिटी है।

२) स्टैचू ऑफ यूनिटी वर्ल्ड की सबसे ऊंची प्रतिमा है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी स्टैचू ऑफलिबर्टी से दोगुनी ऊंची है।

3) स्टैचू ऑफ यूनिटी गुजरात में नर्मदा नदी पर स्थित सरोवर बांध से 3 पॉइंट 5 किलोमीटर की दूरी पर बनाई गई है इसकी लंबाई इतनी है कि इसे 7 किलोमीटर दूरी से भी आसानी से देखा जा सकता है।

4) इस प्रतिमा का स्टेचू का कुल वजन 17 टन है इसके पैर की हाइट 80 फीट है और इसके हाथ की ऊंचाई 70 फीट से अधिक है और कंधों की ऊंचाई 140 फीट से अधिक है और चेहरे की ऊंचाई 40 फीट से अधिक है इस प्रतिमा का निर्माण राम सुतार की देखरेख में हुआ है।

5) स्टैचू ऑफ यूनिटी पर लगभग 3000 करोड़ का खर्चा हुआ है इस प्रतिमा को बनाने पर 3000 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं इसकी आधारशिला 31 अक्टूबर 2013 को सरदार वल्लभ भाई पटेल की 138 वीं वर्षगांठ के वक्त रखा गया था जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे इसके लिए भाजप ने पूरे देश से लोहा इकट्ठा करने का अभियान चलाया था।

6) स्टैचू ऑफ यूनिटी को इस प्रकार से बनाया गया है कि यहां पर 180 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से भी हवा चली तो यहां पर यह टैटू स्थिर खड़ा रह सकेगा इसके अलावा यह 6.5 की तीव्रता वाला भूकंप भी आसानी से सह सकता है।

7) इस प्रतिमा के निर्माण के लिए भारतीय मजदूरों के साथ चीन के कर्मचारियों ने भी बहुत खूब हाथ बताया था लगभग 200 कर्मचारी इस प्रोजेक्ट में चीन के कर्मचारी जुड़े थे।

8) स्टेचू ऑफ यूनिटी को ऊपर जाने के लिए लिफ्ट लगी है स्टैचू ऑफ यूनिटी तक पहुंचने के लिए लिफ्ट भी लगाई गई है यह लिफ्ट प्रतिमा की छाती तक पहुंच सकती है वहां से खड़े होकर आप नर्मदा नदी का नजारा देख सकते हैं इसमें लेजर लाइटिंग लगी हुई है जिससे कि रात को रौनक अलग ही लगती है।

9) नहीं लगेगा जंग सरदार वल्लभ भाई पटेल की इस प्रतिमा को इस आधुनिक तकनीक से निर्माण किया गया है कि इसे गंज नहीं लगेगा इसमें चार धातुओं का उपयोग किया गया है और इसे आसानी से वर्षों तक जंग नहीं लगेगी स्टैचू ऑफ यूनिटी में 85% तांबे का इस्तेमाल किया गया है।

10) स्टेचू ऑफ यूनिटी के आसपास में 250 एकड़ में एक वैली ऑफ फ्लावर बनाया गया है इसमें सबसे अधिक तरह के फूल और पौधे लगाए गए हैं साथ ही यहां पर आने वाले लोगों के लिए खास तौर पर इंटेंसिटी बनाई गई है यहां पर 250 दिन लगाए गए हैं जहां गुजराती और आदिवासी खाने से लेकर नृत्य दिखाए जाते हैं।

Leave a Comment

x